बलगम के लिए 5 सबसे बेस्ट आयुर्वेदिक घरेलू उपचार: Balgam ka Ayurvedic Gharelu Upchar

बलगम के लिए सबसे बेस्ट आयुर्वेदिक घरेलू उपचार

Balgam ka Ayurvedic Gharelu Upchar
Balgam ka Ayurvedic Gharelu Upchar

क्या आपको पता हैं Balgam ka Ayurvedic Gharelu Upchar सिर्फ एक चिकित्सा विज्ञान नहीं हैं बल्की जीवन को सही विधी से जिने की पद्धती हैं। जो लोग आयुर्वेद के नियमो का पालन करते हुए अपनी डेली रुटीन को आनंदपूर्वक एन्जॉय करते हैं। इस लिए हमने आज के इस बलगम का आयुर्वेदिक घरेलू उपचार ब्लॉग पोस्ट में आपके लिए बेस्ट आयुर्वेदिक दवा का लेख लिखा हैं तो आईये एक नजर देख ले।


{getToc} $title={Table of Contents}


Balgam ka Ayurvedic Upchar: बलगम का घरेलू आयुर्वेदिक उपचार


1. बलगम के लिए खदिरा के फायदे

Balgam ka Ayurvedic Gharelu Upchar
Balgam ka Ayurvedic Gharelu Upchar


क्या आपको पता हैं खदिरा के बलगम के लिए फायदे कीस प्रकार हैं? खदिरा बलगम के घरेलू उपचार में से एक हैं, जब बलगम की समस्या से छुटकारा पाना कठीण हो जाये तो 1 ग्लास में गरम पाणी, 1 छोटा चम्मच खदिरा डाल कर गरारे करने से तुरंत बाद ही आराम मिल सकता हैं। खदिरा से शरीर में मौजुद कफ और पित्त दोष का संतुलन मान्य करने में भी सहायता मिलती हैं। इस के अतिरिक्त खदिरा के सेवन से सर्दी, जुकाम और खांसी जैसी अन्य समस्याओ से आराम मिलता हैं। इस लिए यह बलगम का आयुर्वेदिक घरेलू उपचार हमारे काम आ सकता हैं।


2  बलगम के लिए शहद और नींबू के फायदे

बलगम का आयुर्वेदिक घरेलू उपचार
बलगम का आयुर्वेदिक घरेलू उपचार


शहद और नींबू का मिश्रण बलगम से आराम दिलाने के लिए औषधी के रुप में किया जा सकता हैं। इसका फायदा उठाने के लिए 1 चम्मच शहद में 1 चम्मच निंबू का रस मिलाये और इसे गर्म पाणी में अच्छेसे मिक्स करे और इसे पी ले। इस काढे को पिणे के कुछ ही समय में आप को आराम का एहसास होणा शुरु हो जायेगा।


3  बलगम के लिए तुलसी और अदरक के फायदे

Balgam ka Ayurvedic Gharelu Upchar
Balgam ka Ayurvedic Gharelu Upchar


तुलसी और अदरक दोनो का उपयोग आयुर्वेद में औषधी के रुप में किया जाता हैं, तुलसी और अदरक फोनो में मौजुद गुण शरीर के लिए बेहद फायदेमंद होते हैं। 1 चम्मच तुलसी की पत्तीयो के रस में 1 चम्मच अदरक का रस मिलाये और इसे गर्म पाणी या शहद में मिलाकर पिये। ऐसा करने से छाती और गले में जमा बलगम आसानी से दूर हो जायेगा और आपको इस समस्या से राहत मिलेगी।


4. बलगम के लिए कच्ची हल्दी के फायदे

बलगम का आयुर्वेदिक घरेलू उपचार
बलगम का आयुर्वेदिक घरेलू उपचार


कच्ची हल्दी का उपयोग आयुर्वेद में औषधी के रुप में किया जाता हैं और इसमे मौजुद एंटी-सेप्टिक, एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटी-बैक्टीरियल गुण कई समस्याओ में फायदेमंद होते हैं। बलगम दूर करने के लिए हल्दी में मौजुद करक्यूमिन नमक कंपाउंड बहुत उपयोगी होता हैं। कच्ची हल्दी का रस निकालकर इसकी कुछ बुंदे गले में डाले, और इजे अलावा इसे गुणगुने पाणी में डालकर गरारे करे। ऐसा करने से आपको बलगम की समस्या से जल्द ही छुटकारा मिलेगा।


5. बलगम के लिए वचा के फायदे

Balgam ka Ayurvedic Gharelu Upchar
Balgam ka Ayurvedic Gharelu Upchar


वचा एक शक्तिशाली आयुर्वेदिक जडी बुटी हैं जिस के उचित उपयोग से गले और छाती में जमा बलगम जल्द ही आपके शरीर से निकाला जा सकता हैं। सब से बेहतर परिणाम पाने के लिए वचा का काढा पिना बेहद फायदेमंद हो सकता हैं, दिन में 2 से 4 बार यह काढा पिये और देखे कैसे आप की सेहत में फास्ट तरिके से सुधार आता हैं।


इसे भी पढिए:-

HARSH

मेरा नाम हर्ष है और मैं इस HarShBhai.Com ब्लॉग का ऑनर हूँ, मैं पिछले 5 साल से हेल्थ, ब्युटी, फिटनेस, हेयर केयर, वेट लूज और स्किन केयर से जुडी जानकारी प्रदान करने का काम ब्लॉग पर करता हूँ। अगर आप किसी समस्या से पीडित है और आपको सबके सामने पूछने में दिक्कत होती है तो आप हमसे Contact कॉन्टॅक्ट कर सकते है और आप मुझे बे-झिजक सवाल कर सकते है। मैं आपके सवाल का जवाब अवश्य देने का प्रयास करुंगा।

*कॉमेंट बॉक्स में स्पॅम ना करे आपकी सारी कॉमेंट रीड करणे के बाद ऍप्रूव्ह होगी*

और नया पुराने

نموذج الاتصال